0
BY - कुणाल शेलार,युवा महाराष्ट्र लाइव - नवी  मुंबर्इ |
आज भी युवती कुछ कम नही है़ये मिशन पर निकली हुँर्इ लडकीयोने अपने स्ट्रगल  की शुरूवात बिहारसे करके करोडो लोगो के सामने लार्इ है  तब भी नारीशक्ती थी और आज भी नारी की शक्ती प्राबल्य रही है.आत्मविश्‍वास न हो तो क्या कुछ नही कर सकते ये हमेशा हमने सुना है लेकीन अनगिनत वो सामने लाने का कार्य युवतीने अपने कम उम्र मे कर लिया है ये आश्‍चर्य चौकाने वाली बात है.भारत देश की सायकलद्वारा 14 राज्य की भ्रमण कर रही दो लडकीयाँ जिनका नाम अंकिता राज  और आस्फा खातून है.ये दोनो बिहार की रहनेवाली है.यह दोनो सायकलद्वारा राज्य भ्रमण करके एक अनोखा विक्रम करके और बड चूकी है.जिस मिशन का नाम ऑल इंडिया सायकल एक्सपिडीशन है.जिसे उन्होने  17 अक्टुबर को शुरू किया है.
Prof.Mr.Abhinav K.Dubey Sir
जिसे सी.डी.ए बिल्डींग  मे बिहार पटणा,बिहार और झारखंड के ए.डी.जी मेजर जर्नल आरकेजीटीटीए द्वारा  फलैग ऑफ  किया गया है.वास्तव्य मै इन दो लडकीयों का लक्ष्य 14 राज्य को कवर करके लोगो को बालिका सशक्तीकरण,स्वच्छ भारत-हरित भारत के बारे मै जागरूक करना है. बिहार,झारखंड,ओरिसा, आंध्रप्रदेश,तेलंगणा,तमिलनाडू हो चूके है अब वे महाराष्ट्र में आकर सायकल द्वारा भ्रमण कर रहे है.इसके बाद अंकिता राज  और आस्फा खातून मुंबर्इ,गुजरात,मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ को कवर करने के बाद फिर से बिहार वापस जाऍंगे. अंकिता राज  और आस्फा खातून ने 52 दिनो मे तब्बल 4000 किलोमीटर  को कवर कर लिया है.इन युवतीयोंको सोबिस्को बिस्कुट एन केक द्वारा प्रायाजित किया जा रहा है.इन्हे सामुदायिक ट्रैफिक पुलिस दिव्या भारती,अमलेंदु झा,डॉक्यूमेटेशन मैपिंग डिपार्टमेंट(ऋचा),अ‍ॅकोमोडेशन डिपार्टमेंट(सुकिर्ती),जी.पी.एस डिपार्टमेंट (निराज) का सहयोग मिला है.
     अंकिता राज  और आस्फा खातून महाराष्ट्र के मुंबर्इ से पनवेल से सायकलद्वारा भ्रमण कर ही थी.तब शेडूंग,पनवेल मे मशहूर एस.टी.वेलफ्रेड कॉलेज ऑफ लॉ में जाकर मुलाखत दि.यह लॉ कॉलेज पुरे महाराष्ट्र मे मशहूर है इस कॉलेज के बारे बोहोत सुना और आज इस कॉलेज के प्रोफेसर और सभी लॉ प्रशिक्षणार्थी को मिलकर उन्हे हम देश के बेहतरीन मिशन की और चल रहै है और साथ ही नारीशक्ती बलवान है जो मन में लाए तो जितना मुश्किल नही है यह भी चर्चा के दौरान अंकिता राज  और आस्फा खातून ने हमे बताया.
            आज भी नारी की शक्ती जो ठाण ले वो कर सकती है और जिन्हे रोख नही सकता.जो आज यह लडकिया जो कर रही है वहँ तारिफ के काबिल है क्योंकि जो ठाण ले वहँ कर जाती है.यह है हमारा भारत जो सोच बदलने के साथ साथ आत्मविश्‍वास को भी जगाता रहता है.यह स्पष्टता एस.टी.वेलफ्रेड कॉलेज ऑफ लॉ के प्रोफेसर अभिनव दुबे सर इन्होने हमसे करके अंकिता राज और आस्फा खातून को तर्रकी के मुकाम पर जा के भारत देश का नाम उँचा करो यह प्रशंसा भी की.उस समय प्रियंका शर्मा और कॉलेज के सभी प्रशिक्षणार्थी उपस्थित थे.





Post a comment

 
Top